जो बड़े-बड़े देश नहीं कर पाए उससे बांग्लादेश ने कर दिखाया, ढूंढ लिया कोरोना का इलाज! 60 कोरोना मरीजों पर टेस्ट, सब ठीक

ढाका : एन पी न्यूज 24 – आज पुरी दुनिया कोरोना से परेशान है। हर कोई इससे निजात पाना चाहता है। लेकिन, दुर्गभाग्यवश अभी तक ऐसा कोई दवाई नहीं बन पायी है, जिससे कोरोना वायरस को मारा जा सकते। सभी देश के डॉक्टर और वैज्ञानिक लगातार इस कदम में काम कर रहे है। इस बीच बांग्लादेश की एक मेडिकल टीम ने दावा किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की दवा को लेकर रिसर्च की है और उन्हें सफलता भी मिल गई है।

एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, डॉक्टरों का कहना है कि दो दवाओं के कॉम्बिनेशन से कोरोना मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं। देश के प्रमुख प्राइवेट संस्थान बांग्लादेश मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रमुख डॉ. मोहम्मद तारेक आलम ने कहा है कि पहले से मौजूद दो दवाओं का कॉम्बिनेशन इस्तेमाल किया गया। डॉ. आलम ने कहा कि कोरोना के 60 मरीजों को दवाओं का कॉम्बिनेशन दिया गया तो सभी मरीज ठीक हो गए। बता दें कि आलम बांग्लादेश के प्रतिष्ठित डॉक्टर हैं। उन्होंने कहा कि मरीजों को Ivermectin और Doxycycline नाम की दवा दी गईं।

Doxycycline एंटीबायोटिक है, जबकि Ivermectin दवा Antiprotozoal मेडिसिन के तौर पर यूज की जाती है। डॉ. आलम ने कहा कि उनकी टीम ने इन दोनों दवा का इस्तेमाल सिर्फ कोरोना मरीजों के लिए किया। इन मरीजों में शुरुआत में ही सांस लेने संबंधी समस्याएं थीं और जांच में इनके रिजल्ट कोरोना पॉजिटिव आए थे। उनके मुताबिक, दवा इतनी प्रभावी रही कि बीमार मरीज 4 दिन में ठीक हो गए। मरीजों के आधे लक्षण 3 दिन में ही गायब हो गए थे। उन्होंने यह भी कहा कि दवा का कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला। बता दें कि बांग्लादेश में कोरोना के 22 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और 320 से अधिक लोगों की मौतें हो चुकी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.