अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के लिए तैयार हूं : अभिमन्यू ईश्वरण

  कोलकाता : एन पी न्यूज 24 – प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शानदार बल्लेबाजी करने वाले सलामी बल्लेबाज अभिमन्यू ईश्वरण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं, लेकिन वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अगले महीने शुरू …

अभिमन्यू ईश्वरण

 

कोलकाता : एन पी न्यूज 24 – प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शानदार बल्लेबाजी करने वाले सलामी बल्लेबाज अभिमन्यू ईश्वरण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं, लेकिन वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अगले महीने शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए अपने चयन को लकर अधिक चिंतित नहीं है।

ईश्वरण ने हाल में हुए दलीप ट्रॉफी में 153 रनों की पारी खेलकर इंडिया रेड को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। उन्हें पश्चिम बंगाल का भी कप्तान बनाया गया है।

24 वर्षीय ईश्वरण ने 2018-19 रणजी ट्रॉफी में 95.66 के औसत के साथ 861 रन बनाए थे। भारत के सलामी बल्लेबाज लाकेश राहुल पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म में चल रहे हैं ऐसे में ईश्वरण को आगामी सीरीज के लिए मौका मिल सकता है।

आईएएनएस से ईश्वरण ने कहा, “मैं चयन के बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं उन चीजों के बारे में नहीं सोच रहा हूं जो मेरे नियंत्रित में नहीं हैं। मैं केवल 17 सितंबर से शुरू होने वाली दक्षिण अफ्रीका ‘ए’ सीरीज के बारे में सोच रहा हूं। मुझे इसके लिए अच्छी तैयारी करनी होगी।”

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के लिए तैयार हैं? उन्होंने कहा, “हां, मैं तैयार हूं।”

ईश्वरण ने आगामी सीरीज में पर कहा, “बेहतरीन क्रिकेट खेलने वाले दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना मेरे लिए बड़ी चुनौती होगी। अगर आप अच्छा करते हैं, तो आपका आत्मविश्वास हमेशा बढ़ता है।”

वह हाल में वेस्टइंडीज का दौरा करने वाली इंडिया-ए टीम का भी हिस्सा थे। ईश्वरण ने कहा, “मैंने उस दौरे से बहुत कुछ सीखा। उन परिस्थितियों में ड्यूक बॉल के साथ खेलना। मैं पहली बार लाल गेंद के साथ राते में खेला। वह भी एक चुनौती थी। रात में फ्लडलाइट्स के नीचे नई गेंद के साथ खेलना एक सलामी बल्लेबाज के लिए बहुत मुश्किल है। मुझे वहां विकेटों से तालमेल बिठाना पड़ा।”

ईश्वरण ने ‘इंडिया-ए’ में पूर्व बल्लेबाज राहुल द्रविड़ के साथ भी समय बिताया। उन्होंने कहा, “जब से मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया, राहुल सर एक आइडल रहे हैं। वह एक प्रेरणास्रोत हैं। उसके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना किसी सपने के सच होने जैसा है। मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है। वह हमारे लिए बहुत खुला है।”

Leave a comment