पिंपरी चिंचवड़: पुलिसकर्मी पर हमला करनेवाले पुलिसकर्मी समेत 3 गिरफ्तार

पिंपरी। एन पी न्यूज 24 – बेवजह घर से बाहर निकलने पर टोकने से चिढ़कर पुलिस वाले पर हमला किये जाने के मामले में एक चौंकाने वाली जानकारी सामने आयी है। गत शाम साढ़े पांच बजे पिंपरी चिंचवड़ शहर के कालेवाडी स्थित कोंकणेनगर में मस्जिद के सामने हुई इस वारदात में शामिल तीन आरोपियों में एक आरोपी खुद भी एक पुलिसकर्मी है। इसी शख्स ने टोकने वाले पुलिसकर्मी को डंडे से पीटा था। बहरहाल वाकड पुलिस ने उस पुलिसवाले समेत तीनों आरोपी पिता-पुत्रों को गिरफ्तार कर लिया है। एक पुलिसवाले द्वारा अपनी ड्यूटी निभा रहे दूसरे पुलिसवाले पर हमला करने की इस घटना ने खलबली मचा दी है। इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो गया है।
गिरफ्तार आरोपियों में युनूस गुलाब आत्तार (50), मतीन युनूस आत्तार (28), मोईन युनूस आत्तार (24, सभी निवासी श्रीकृष्ण कालोनी, जामा मस्जिद के सामने, भारतमाता चौक, कालेवाडी, पुणे) का समावेश है। इनमें से मतीन खुद भी पुलिसवाला है,  वह खड़की रेलवे पुलिस में तैनात है और इन दिनों लॉक डाउन के दौरान पिंपरी चिंचवड़ शहर में बंदोबस्त के लिए वाकड पुलिस थाने में तैनात है। सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 426/2020 के अंतर्गत 353, 332, 504, 506, 188, 269, 270, 34 के साथ ही आपदा प्रबंधन कानून 2005, कोविड 19 उपाययोजना अधिनियम 2020, संसर्गजन्य रोग अधिनियम 1897 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।
इस बारे में पुलिस कर्मचारी शंकर कलकुटे द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार कोरोना की रोकथाम के लिए समस्त पिंपरी चिंचवड़ शहर में संचारबन्दी लागू की गई है। लोगों को बेवजह घरों से बाहर निकलने पर रोक लगाई गई है। इस बारे में जारी किए गए आदेश का उल्लंघन कर युनुस अत्तार कालेवाडी में मस्जिद के सामने बेवजह रास्ते पर घूम रहा था। इस दौरान गश्त कर रहे पुलिस कर्मचारी शंकर कलकुटे ने उसे घर से बाहर निकलने का कारण पूछा तो वह उनसे लड़ने और विवाद करने लगा। इसके बाद उसके दो युवा लडके भी उनसे झगडने लगे। बात बढ़ती चली गई और मतिन अत्तार ने शंकर का डंडा छीन लिया और उनपर हमला कर दिया। तीनों आरोपियों ने मिलकर उनके साथ मारपीट की और उनको जान से मारने की धमकी दी। वाकड पुलिस में पिता और दो पुत्रों पर अपराध दर्ज किया गया है। मामले की जांच सहायक पुलिस निरिक्षक सपना देवतले कर रही हैं।
Leave A Reply

Your email address will not be published.