भारत, जापान में जल्द होगी 2 प्लस 2 मंत्रिस्तरीय बैठक

व्लादिवोस्तोक (रूस) : एन पी न्यूज 24 – जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की वार्षिक सम्मेलन के लिए इस साल दिसंबर में भारत यात्रा से पहले दोनों देशों के बीच पहली दो प्लस दो मंत्रिस्तरीय वार्ता …

शिंजो आबे

व्लादिवोस्तोक (रूस) : एन पी न्यूज 24 – जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की वार्षिक सम्मेलन के लिए इस साल दिसंबर में भारत यात्रा से पहले दोनों देशों के बीच पहली दो प्लस दो मंत्रिस्तरीय वार्ता होगी। यह निर्णय गुरुवार को यहां ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (ईईएफ) से इतर हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आबे के बीच बैठक में लिया गया। दो प्लस दो फॉर्मेट के तहत दोनों देशों के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री संयुक्त रूप से बैठक कर रणनीतिक मुद्दों पर चर्चा करते हैं।

मोदी और आबे के बीच हुई वार्ता के बारे में जानकारी देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि जापानी प्रधानमंत्री ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की हालिया जापान यात्रा का उल्लेख किया। इस दौरान महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई थी।

गोखले ने कहा कि आबे ने मोदी से कहा कि उन चर्चाओं को दिसंबर में दिल्ली में होने वाली बैठक में आगे बढ़ाया जा सकता है और कुछ ठोस परिणाम आने की उम्मीद है। दोनों नेताओं ने अफ्रीका में भारत और जापान की संयुक्त परियोजनाओं की संभावनाओं पर भी चर्चा की। दोनों नेताओं ने भारत-जापान-अमेरिका त्रिकोणीय फॉर्मेट पर चर्चा की। ऐसी दो बैठकें हो चुकी हैं और इन्हें सकारात्मक मानते हुए दोनों नेताओं ने आगे भी ऐसी बैठकें जारी रखने पर सहमति जताई।

हिंद-प्रशांत क्षेत्र पर, प्रत्यक्ष रूप से चीन के दक्षिण चीन सागर में अधिपत्य फैलाने के मुद्दे पर मोदी और आबे ने कहा कि क्षेत्र की आर्थिक प्रगति और सुरक्षा के लिए उसमें आजाद और स्वच्छंद कार्यवाही होनी चाहिए। दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी), आसियान के 10 सदस्य राज्यों और इसके छह सदस्यों- भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में एक प्रस्तावित निशुल्क व्यापार साझेदारी (एफटीए) से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की।

मोदी ने कहा कि व्यवस्था को अंतिम रूप देने के दौरान वस्तु एवं सेवा में व्यापार जैसे मुद्दों को ध्यान में रखना चाहिए। गोखले ने कहा कि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच विभिन्न मुद्दों पर विस्तृत चर्चा दिसंबर में दिल्ली में होने वाली वार्षिक बैठक में होगी। इसकी तिथि हालांकि तय की जा रही है। मोदी ने मंगोलिया के राष्ट्रपति खाल्माजिन बाटुल्गा से भी द्विपक्षीय वार्ता की और द्विपक्षीय समझौतों पर संक्षिप्त चर्चा की।

दोनों नेताओं ने मुख्य रूप से व्यापार और आर्थिक समझौतों पर चर्चा की। गोखले ने कहा कि इन मुद्दों पर विस्तृत चर्चा बातुल्गा की इसी महीने भारत यात्रा के दौरान की जाएगी। विदेश सचिव ने कहा कि दिल्ली के अलावा वे बेंगलुरू और बोध गया भी जाएंगे।

Leave a comment