कोरोना संक्रमितों को लेकर उड़ती रही ये एयरलाइन, पर बोलती रही झूठ, कई देशों में फैला कोरोना

0

तेहरान. एन पी न्यूज 24 – पूरी दुनिया में कोरोना को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। सख्ती के साथ सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया जा रहा है और एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि ईरान में इस्लामिक रिवॉल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स से जुड़ी प्राइवेट एयरलाइन महान एयर ने कई हफ्ते बाद तक सेवाएं जारी रखी। इस दौरान महान एयर के विमान चीन और अन्य देशों में उड़ान भरते रहे। इस दौरान संक्रमित मरीजों को भी विमान में सफर कराया गया। 6 फरवरी को एक विमान वुहान से 70 ईरानी छात्रों को लेकर आया और फिर उसी दिन विमान ने इराक के लिए भी उड़ान भरा।

झूठ बोला : एयरलाइन ने बैन के बाद फ्लाइट सेवाएं जारी रखने को लेकर झूठ बोला। ईरान की राजधानी तेहरान और चीन के एयरपोर्ट के डाटा में इस बात की पुष्टि हुई है कि महान एयर के विमान मार्च तक उड़ान भरते रहे। दूसरी तरफ, महान एयर का दावा है कि 6 फरवरी की फ्लाइट की आलोचना होने के बाद उसने चीन से सभी फ्लाइट्स को रद्द कर दिया था, लेकिन Flightradar24 के डाटा के मुताबिक, 23 फरवरी तक बीजिंग, शंघाई और गुआंझोऊ और शेनझेन से 55 और फ्लाइट्स ने उड़ान भरी। रिपोर्ट में यह भी पता चला है कि इराक और लेबनान में कोरोना वायरस के पहले मामले महान एयर की फ्लाइट्स से ही सामने आए। एयरलाइन के जो विमान चीन से तेहरान के लिए उड़ान भरते थे, वहीं विमान 24 घंटे के भीतर बर्सिलोना, दुबई, कुआलालंपुर और इंस्ताबुल भी जाते थे।

कराया चुप : एयरलाइन्स के केबिन क्रू ने पीपीई की कमी और विमानों में संक्रमण रोकने के मुद्दे को उठाया था, लेकिन उन्हें चुप करा दिया गया था। वहीं, महान एयर का कहना है कि उसके विमान मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए चीन जा रहे थे और इनमें कोई पैसेंजर फ्लाइट्स नहीं थी, लेकिन रिपोर्ट में कहा गया है कि असल में ये पैसेंजर फ्लाइट्स ही थीं। बता दें कि महान एयर पर पहले से सवाल उठते रहे हैं। अमेरिका ने 2011 में इस पर आतंक को समर्थन करने का आरोप लगाया था। सऊदी अरब के एयर स्पेस में इस विमान के एन्ट्री बैन है, वहीं जर्मनी, फ्रांस, स्पेन और इटली में भी ये विमान लैंड नहीं कर सकता।

Leave A Reply

Your email address will not be published.