चाहे जितनी सख्ती बरतनी पड़े बारतो, 31 मई तक पूरा राज्य होना चाहिए कोरोनामुक्त : सीएम ठाकरे का निर्देश

मुंबई : एन पी न्यूज 24 – महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 711 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 14,541 हो गई। इनमें से कुल 583 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है। सोमवार को ही राज्य में कुल 35 लोगों की मौतें हुई, जिसके साथ ही राज्य में मरने वालों की संख्या 583 तक पहुंची। सोमवार हुई 35 मौतों में से सबसे ज्यादा 21 मौतें मुंबई में हुई हैं।

राज्य में अकेले मुंबई में करीब 9000 लोग इससे संक्रमित हैं। मुंबई में बढ़ रही कोरोना संक्रमित लोगों की तादात को देखते हुए अब राज्य सरकार ने 17 मई तक धारा 144 लागू कर दी है। मुंबई के आंकड़ों पर नजर डालें तो चौबीस घंटे में आर्थिक राजधानी में 510 नए मामले सामने आए हैं। उद्धव सरकार के लिए मुंबई लगाता एक बड़ी परेशानी बनी हुई है। हालत दिन पर दिन बेकाबू होते जा रहें हैं।

सीएम ठाकरे का निर्देश: चाहे जितनी सख्ती बरतनी पड़े बार –
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण पर सख्त रूख कायम कर लिया है। उन्होंने सोमवार को सभी जिलों के अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की और उन्हें हर हाल में 31 मार्च तक राज्य को कोरोना मुक्त करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर अफसर को अपना इलाका ग्रीन जोन में लाना होगा, भले चाहे इसके लिए कितनी भी सख्ती क्यों न करनी पड़े। उन्होंने कहा कि कलेक्टर स्थानीय स्तर पर हर जरूरी फैसला ले सकते हैं, लेकिन कोरोना को नियंत्रित करने में कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कोरोना के गंभीर मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या देखते हुए बृहन्मंबई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) ने अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने का फैसला लिया है। स्वास्थ्य विभाग अलग-अलग अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या 3 हजार से बढ़ाकर 4 हजार 750 करने की योजना पर काम कर रहा है। इसके तहत केईएम, नायर, सेंट जॉर्ज और सेवन हिल्स अस्पताल में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

बीएमसी ने शुरू की बुजुर्गों की जांच –
बीएमसी ने घर-घर जाकर वरिष्ठ नागरिकों की जांच करनी शुरू की है। स्वास्थ्य कर्मियों ने अब तक झुग्गी बस्तियों में 3 लाख 43 हजार 717 घरों में पहुंचकर 42 हजार 752 बुजुर्गों की जांच की। बता दें कि कोरोनावायरस के प्रभाव की वजह से पोर्ट पर यात्री जहाज की आवाजाही पर रोक लगी है। मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के अनुसार, लॉकडाउन के बाद से पोर्ट पर 110 से अधिक कार्गो जहाज पहुंचे हैं। इन जहाजों के माध्यम से शक्कर, बेस ऑइल कंटेनर, गाड़ियां, लोहे के एंगल और लोहे के कोइल समेत अन्य सामान मुंबई में उतरे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.