पत्नी से किया झगड़ा तो होंगे 14 दिन तक क्वारंटाइन

घरेलू हिंसा रोकने के लिए पुणे जिला परिषद का अनोखा फैसला

पुणे। एन पी न्यूज 24 – देश भर में लॉकडाउन के ऐलान के बाद बढ़े घरेलू हिंसा के केसों को देखते हुए पुणे जिला परिषद ने एक अनोखा फैसला लिया है। जिला परिषद के अधिकारियों ने अब यह नियम बनाया है कि अगर कोई भी शख्स घरेलू हिंसा के मामलों में संलिप्त पाया जाता है तो शुरुआती कार्रवाई के रूप में उसे 14 दिन के क्वारंटाइन में रख दिया जाएगा। इस फैसले ने घरेलू महिलाओं को थोड़ी राहत दी है।
जिला परिषद के पदाधिकारियों का मानना है कि लॉकडाउन के कारण शराब की बिक्री रोकने और अन्य वजहों से घरेलू हिंसा की वारदातों में इजाफा हुआ है। ऐसे में यह फैसला हुआ है कि अगर किसी भी शख्स के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत मिलती है तो उसे तत्काल किसी सरकारी क्वारंटाइन में शिफ्ट कर दिया जाएगा। इसके लिए निगरानी समिति गठित की गई है। साथ गांव के प्रतिष्ठित लोगों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की मदद भी ली जाएगी, जो कि हिंसा की ऐसी घटनाओं पर पूरी नजर रखेंगी।
घरेलू हिंसा की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए पुणे जिला परिषद की ओर से हेल्पलाइन नंबर 18002334130 जारी किया गया है। इसके अलावा काउंसलिंग के लिए जिला स्तर पर एक मनोवैज्ञानिक की व्यवस्था भी की गई है। बता दें कि लॉकडाउन की स्थितियों के बीच देशभर में घरेलू हिंसा के केसों में इजाफा हुआ है। शुक्रवार को ही दिल्ली उच्च न्यायालय में दाखिल एक जनहित याचिका में इस मामले की ओर कोर्ट का ध्यान आकर्षित करते हुए, इस संबंध में कोई फैसला करने की बात कही गई है। इस पीआईएल में घरेलू हिंसा की रोकथाम के लिए नोडल अधिकारी की तैनात, हेल्पलाइन की शुरुआत करने समेत कई और मांग की गई है।
Leave A Reply

Your email address will not be published.