अगर 1986 में ‘यह’ शो नहीं आता तो, नहीं बन पाती ऐतिहासिक ‘रामायण’, जानें इसके पीछे की कहानी  

0

मुंबई:  एन पी न्यूज 24-  लॉकडाउन के बीच टीवी के ऐतिहासिक शो रामायण और महाभारत का पुन:प्रसारण किया जा रहा है. पहले की तरह आज भी सालों बाद ये शो रिकॉर्डतोड़ TRP हासिल कर रहे हैं. रामायण पिछले पांच साल का सबसे अधिक TRP हासिल करने वाला शो बनने में सफल रहा है. इसके बाद इसके कलाकारों और शो से जुड़े किस्सें सुर्ख़ियों में हैं. आज हम आपको रामायण से  जुड़ा एक ऐसा किस्सा बताने जा रहे हैं, जिसके बारें में शायद ही आपको जानकारी होगी.

बता दें कि रामायण को टीवी स्क्रीन पर लाने का सपना देखने वाले रामानंद सागर को शो के लिए फंड जुटाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. हालाँकि वे उस जमाने में बड़े पर्दे के एक कामयाब फिल्म मेकर थे, लेकिन उनके इस आईडिया से कोई सहमत नहीं हो रहा था इसलिए फाइनेंसर्स अपना पैसा लगाने में हिचकिचा रहे थे. क्योंकि उस समय में ऐसी सीरीज का चलन नहीं था.

इसलिए रामानंद सागर ने फाइनेंसर्स का भरोसा जीतने के लिए साल 1986 में विक्रम बेताल नामक शो शुरू किया, जिसे अपार सफलता मिली. यह उस का बेहद हिट शो साबित हुआ और इसके बाद रामानंद सागर को फाइनेंसर्स का विश्वास हासिल हो गया. फलस्वरूप उन्हें कई फाइनेंसर्स मिलने शुरू हो गए. इस तरह रामानंद सागर का रामायण बनाने का सपना पूरा हो सका.

यहीं नही ‘रामायण’ के जरिए रामानंद सागर ने छोटे पर्दे पर भी अपने आइडियाज से क्रांति ला दी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.