कोरोना विरोधी लड़ाई में मनपाकर्मी व राष्ट्रवादी के नगरसेवक भी आये आगे

कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन; राष्ट्रवादी के नगरसेवकों दिया एक माह का मानदेय

0
पिंपरी। एन पी न्यूज 24 – वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ जारी जंग में पिंपरी चिंचवड़ मनपा के कर्मचारी और राष्ट्रवादी कांग्रेस के नगरसेवक भी आगे आये हैं। कमर्चारियों ने अपने एक दिन का वेतन और नगरसेवकों ने अपना एक माह का मानदेय मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने का फ़ैसला किया है। कर्मचारियों की ओर से मनपा कर्मचारी महासंघ एवं रिटायर्ड अधिकारी व कर्मचारी असोसिएशन और राष्ट्रवादी कांग्रेस की ओर से मनपा में विपक्षी दल के नेता नाना काटे ने मनपा आयुक्त श्रावण हार्डिकर को पत्र सौंपा गया है।
पिंपरी चिंचवड कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष अंबर चिंचवडे, रिटायर्ड अधिकारी व कर्मचारी असोसिएशन के अध्यक्ष शिवाजीराव तापकीर ने मनपा आयुक्त को दिए पत्र में मनपा कर्मचारियों और रिटायर्ड अधिकारी व कर्मचारियों का एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराने की मांग की है। मनपा में करीबन साढ़े सात हजार कर्मचारी हैं वहीं रिटायर्ड अधिकारी व कर्मचारियों की संख्या भी काफी है। इन सभी के एक दिन के वेतन से करीबन डेढ़ करोड़ रुपए जमा होने की संभावना है।
यहां मनपा में विपक्षी दल राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता नाना काटे ने भी मनपा आयुक्त श्रावण हार्डिकर को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस के नगरसेवकों का मार्च माह का पूरा मानदेय मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया जाय। मनपा में राष्ट्रवादी कांग्रेस के 36 नगरसेवक और दो मनोनीत सदस्य हैं। इन 38 नगरसेवकों का एक माह का मानदेय करीबन पौने छह लाख रुपए होता है। इस राशि को मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराने की गुजारिश इस पत्र के जरिये की गई है। काटे ने इस पत्र में कहा है कि कोरोना का संक्रमण महाराष्ट्र में ज्यादा हो रहा है। लॉक डाउन की वजह से सभी उद्योग धंधे ठप्प पड़े हैं। कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई को नैतिक और आर्थिक बल देने के लिहाज से राष्ट्रवादी कांग्रेस के नगरसेवकों का एक माह का मानदेय मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराने का फैसला किया गया है।
Leave A Reply

Your email address will not be published.