दोगुने कीमत पर हुई IRCTC की शेयर ‘लिस्टिंग’, निवेशक हुए ‘मालामाल’ !

नई दिल्ली: एन पी न्यूज 24 – भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने सार्वजनिक क्षेत्र में उतरने का फैसला लिया था, जिसे काफी अब काफी सकारात्मक प्रतिसाद प्राप्त हुआ है. …

IRCTC

नई दिल्ली: एन पी न्यूज 24 – भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने सार्वजनिक क्षेत्र में उतरने का फैसला लिया था, जिसे काफी अब काफी सकारात्मक प्रतिसाद प्राप्त हुआ है. IRCTC द्वारा मार्केट में अपने शेयर बेचे गए थे, जिनमें अब काफी बढ़ोतरी दर्ज हुई है. शेयर बाजार में आज इसका मूल्य 691 रुपये तक पहुंच गया है. कंपनी ने इसके लिए अपना IPO लॉन्च किया था. सरकार ने इन शेयरों की बिक्री से 635-645 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था. हालांकि, रेलवे को अब उम्मीद से अधिक फायदा हुआ है. सोमवार को IRCTC की शेयर बाजार में बंपर लिस्टिंग हुई है.  इसके बाद इसमें निवेश करने वाले निवेशक भी मालामाल हों गए हैं. या यूं कहें निवेशकों को एक दिन में 100 फीसदी से ज्यादा का मुनाफा हुआ है.

IRCTC ने शेयर्स 600 करोड़ से धनराशी कमाने का रखा था लक्ष्य

बता दें कि एक IPO के एक बैंड की कीमत 315-320 रुपये निश्चित की गई थी. यह आईपीओ 30 सितंबर को खुला था और 3 अक्टूबर को बंद हुआ था. सरकार ने 10 रुपये मूल्य के 2 करोड़ 1 लाख 60 हजार शेयरों की बिक्री के लिए आवेदन मंगवाए थे.

निवेश करने वालों को कम से कम 40 शेयरों की बोली लगानी थी. रिटेल और रेलवे कर्मचारियों को प्रत्येक शेयर में 10 रुपये की छूट दी गई थी. सरकार ने इन शेयरों की बिक्री से 635-645 करोड़ रुपये एकत्रित करने का लक्ष्य रखा था.

1 लाख रुपये बन गए 2 लाख

IRCTC शेयर में निवेश करने वाले निवेशकों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं है. इस शेयर को खरीदकर आज वे मिनटों में ही मालामाल हो गए हैं. जिन निवेशकों ने इसमें 1 लाख रुपये लगाए थे, वे बढ़कर अब 2 लाख रुपये हो गए हैं.

निवेशकों ने IPO को लिया हाथोंहाथ

बता दें कि IRCTC के IPO में निवेशकों ने विशेष रूचि दिखाई थी. फलस्वरूप इसे इसे 112 गुना तक सब्सक्रिप्शन मिला था. IRCTC के बिक्री के लिए रखे गए 2 करोड़ शेयर के एवज में 25 करोड़ शेयर के लिए बोलियां प्राप्त हुई थीं.

जानें IRCTC के बारे में

बता दें कि IRCTC रेलवे को कैटरिंग सर्विसेस, ऑनलाइन रेल टिक बुक कराने की सुविधा और देश के स्टेशनों और ट्रेनों में पेयजल उपलब्ध कराती है. IRCTC में सरकार की 100% हिस्सेदारी है. अत: शायर के माध्यम से सरकार ने 12.6 प्रतिशत की हिस्सेदारी बनाई है. IRCTC की स्थापना 27 सितंबर, 1999 को हुई थी. भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी IRCTC एक प्रमुख कंपनी है.

visit : www.npnews24.com  

Leave a comment