corona

फायदे की बात! सोने की कीमतों में ‘तेजी’, घर ‘रखे’ हुए ‘गोल्ड’ से ‘ऐसे’ करें कमाई, जानें 

एन पी न्यूज 24 – अंतर्राष्ट्रीय बाजार के साथ-साथ सोने की घरेलू कीमतों में भी लगातार बढ़ोतरी हुई है.  सोमवार को सोने की कीमत बढ़कर 40,000 रुपये प्रति 10 ग्राम (जीएसटी सहित) का आंकड़ा पर कर गई है. इसलिए अब सोने से फायदा उठाया जा सकता है. कई बड़े-बुजुर्गों का भी यह कहना है कि बुरे समय में सोना हमेशा उपयोगी होता है.

आपके घर में रखे सोने के गहने भी फायदेमंद हो सकते हैं. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने हाल ही में एक योजना शुरू की है. इस योजना का नाम गोल्ड डिपॉजिट स्कीम है. इस योजना के तहत आप बैंक द्वारा अपने घर में सोने पर ब्याज कमा सकते हैं.

सोना जमा करने पर मिलता है प्रमाण-पत्र

स्टेट बैंक की इस योजना के अनुसार सोना जमा करने से पहले आपके सोने की शुद्धता की जाँच की जाती है. इसी शुद्धता के आधार पर बैंक प्रमाण पत्र देता है. आप 1 से 15 साल के लिए अपना सोना जमा रख सकते हैं.

जमा अवधि के अंत में ब्याज के साथ सोना वापस लिया जा सकता है. यदि ग्राहक तैयार है, तो वह सोने के बदले अपनी नकदी भी प्राप्त कर सकता है.

इसमें कौन निवेश कर सकता है?

एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, भारतीय नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. जमाकर्ता एकल या संयुक्त खाता खोल सकता है. साझेदारी करने वाली कंपनी HUF इसमें भी निवेश किया जा सकता है. इस योजना के तहत कम से कम 30 ग्राम सोना जमा किया जाना आवश्यक है. सोना जमा करने की कोई अधिकतम सीमा नहीं है.

कितने सालों के लोए सोना जमा किया जा सकता है

इस स्कीम को SBI में शॉर्ट टर्म बैंक डिपॉजिट (STBD) नाम दिया गया है. इसके अंतर्गत 1 – 3 वर्षों के लिए सोना जमा किया जा सकता है. इसके अलावा  मध्यम और दीर्घकालिक जमा के लिए 5 – 7 और 12 – 15 वर्ष है. साथ ही, यदि कोई निवेशक एक वर्ष के निश्चित समय से पहले पैसा निकालता है, तो उसे ब्याज जुर्माना देना होगा. मध्यम अवधि में निवेशक 3 साल के बाद स्कीम से बाहर हो सकते हैं. लंबी अवधि की योजनाओं को केवल 5 साल बाद ही वापस लिया जा सकता है. तय समय से पहले सोना या पैसा निकालने पर जुर्माना भरना पड़ता है.

5% तक मिलता है ब्याज –

STBD योजना में अधिकतम 5 प्रतिशत ब्याज मिलता है. एक साल के निवेश से 0.50 प्रतिशत ब्याज मिलता है. दो साल के निवेश में 0.55 प्रतिशत और तीन साल के निवेश में 0.60 प्रतिशत का ब्याज है. साथ ही, आपको मध्यम अवधि के निवेश यानी 5 – 7 साल पर 2.25 प्रतिशत सालाना ब्याज मिलता है. लंबी अवधि की बात करें तो 12 से 15 साल के निवेश पर 2 से 5 प्रतिशत ब्याज मिलता है.

निष्क्रिय (घर में ऐसे ही रखे) सोने पर मिलता है ब्याज

लॉकर में रखे सोने से आपको कुछ फायदा नहीं मिलता. SBI की योजना में निष्क्रिय सोने पर भी ब्याज मिलता है. एसबीआई गोल्ड डिपॉजिट स्कीम के तहत ब्याज की गणना सोने की मुद्रा में की जाती है और उसी राशि का भुगतान किया जाता है.

आप इन शाखाओं में कर सकते हैं निवेश

इस योजना का लाभ केवल SBI की चुनिंदा शाखाओं में उपलब्ध है. इनमें दिल्ली की पीबी शाखा, चांदनी चौक की एसएमई शाखा, कोयंबटूर शाखा, हैदराबाद मुख्य शाखा, मुंबई की बुलियन शाखा शामिल हैं. आप इन सभी शाखाओं में सोना रखकर इसका लाभ उठा सकते हैं.

सोने की कीमत बढ़ने से मिलता है अधिक फायदा

इस एसबीआई योजना का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि आपको मैच्युरिटी के समय वर्तमान सोने की कीमतों के मुताबिक ही भुगतान किया जाएगा. हालाँकि  सोने की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं और आगे भी बढ़ने की उम्मीद है. इसलिए सोने के निवेश पर अच्छा रिटर्न प्राप्त किया जा सकता है.

आयकर में भी मिलती है छूट –

इस एसबीआई स्कीम में आपको सोने के निवेश पर आयकर से भी छूट मिलती है. वहीं, अगर आपके पास आय से अधिक सोना है, तो आपको इस पर टैक्स देना होगा. एसबीआई गोल्ड डिपॉज़िट स्कीमों पर कोई संपत्ति कर, पूंजीगत लाभ कर या आयकर भुगतान पर छूट मिलती है.

स्कीम के तहत जमा किए गए सोने से मिलता है कर्ज

SBI की गोल्ड डिपॉजिट स्कीम में निवेश करने के बाद आपको इस गोल्ड पर लोन की सुविधा भी मिलती है. सोने की मूल कीमत का 75 प्रतिशत तक उधार लिया जा सकता है.

More Reading

Post navigation

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *